Top Stories
  1. আবার নৃশংসতা অসমে, বাংলার দুই শ্রমিকের গলার নলি কেটে খুন , হাত কেটে ফেলা আরও দুজনের 
  2. भारत के कुछ मेट्रोपोलिटन शहरों में पेट्रोल - डीजल की कीमत में उतार - चढ़ाव 
  3. बागडोगरा में घटी दुर्घटना में सिविक पुलिस ने घायल महिला को पहुंचाया 'फर्स्ट ऐड' 
  4. भारत के कुछ मेट्रोपोलिटन शहरों में पेट्रोल - डीजल की कीमत में उतार - चढ़ाव 
  5. व्हाट्सअप का यह नया फीचर रखेगा आपकी चैट्स को सुरक्षित, जानिए कैसे... 
  6. भारत के कुछ मेट्रोपोलिटन शहरों में पेट्रोल - डीजल की कीमत में उतार - चढ़ाव 
  7. आईपीएल संबंधित एलान , भारत में ही खेला जाएगा २०१९ का आईपीएल
  8. भारत के कुछ मेट्रोपोलिटन शहरों में पेट्रोल - डीजल की कीमत में उतार - चढ़ाव 
  9. भारत के कुछ मेट्रोपोलिटन शहरों में पेट्रोल - डीजल की कीमत में उतार - चढ़ाव 
  10. भारत के कुछ मेट्रोपोलिटन शहरों में पेट्रोल - डीजल की कीमत में उतार - चढ़ाव 
news-details
North Bengal

रतुआ एक नंबर ब्लॉक के गंगा सागर इलाके में गंगा द्वारा तट की कटाई शुरू 


मालदा, २४ अगस्त:  कालियाचक के तीन ब्लॉक के बाद इस बार चाँचल किसी महकुमा के रतुआ एक नंबर ग्रामपंचायत अंतर्गत गंगासागर इलाके में गंगा नदी अपने तट की कटाई शुरू कर दी है। गंगा के इस कटाई को लेकर उस ब्लॉक के दस गावों के वाशिंदा आतंकित है। पिछले एक सप्ताह से रतुआ एक नंबर ब्लॉक के जंजाली टोला,नया विलाईमारी तथा नया टोला इलाके में गंगा अपने तट की कटाई कर रही है। विलाईमारी ग्रामपंचायत इलाके के करीब ढाई किलोमीटर क्षेत्र में नदी कटाई कर रही है। नदी के अपरदन से भयभीत ग्रामीणों ने पलायन करना शुरू कर दिया है। लेकिन बहुत से लोग अपने घर बार तथा पशुओं को छोडकर नहीं जाना चाहते हैं। इस वजह से ग्रामीण अपने घरों में ही आतंक के साये में रह रहें हैं। तृणमूल द्वारा गठित विलाइमारी ग्रामपंचायत के प्रधान लुफर रहमान ने बताया कि उन्होंने इस विषय को लेकर स्थानीय विडीओ से बात की है। दूसरी ओर रतुआ ब्लॉक के वीडिओ अर्जुन पाल ने बताया कि विलाइमारी ग्रामपंचायत इलाके के जंगलीटोला गांव में नदी ने बहुत बड़े भू भाग को काट दिया है। इस वजह से लोगों में बाढ़ की आशंका बनी हुई है। उन्होंने बताया कि नया विलाईमारी गांव में सरकारी राहत शिविर लगाया गया है। उनका प्रयास है की लोग अपने घरों को छोडकर राहत शिविर में रहे। लेकिन समस्या यह है की लोग अपना घरबार तथा पशुओं को छोड़कर राहत शिविर में नहीं आना चाहते हैं। प्रसासन की ओर से एक मेडिकल टीम भी भेजी गई है। प्रसासन पूरी घटना पर नजर बनाये हुई है। जिला प्रसासन की ओर राज्य के सिंचाई विभाग को भी इस घटना की जानकारी दे दी गई है। सिंचाई विभाग के अभियंता प्रणव कुमार सामंत ने बताया कि रतुआ ब्लॉक में नदी द्वारा कटाई की घटना उनके संज्ञान में है। लेकिन फ़िलहाल वे कुछ नहीं कर सकते हैं। गंगा द्वारा तट की कटाई को रोकने तथा उसका प्रतिरोध करने का दायित्व केंद्र सरकार पर है। (एन ए)

  • Tags

You can share this post!

Comments System WIDGET PACK

Download Our Android App from Play Store and Get Updated News Instantly.